बर्ज़िन आर्काइव्स

डॉ. अलेक्ज़ेंडर बर्ज़िन के बौद्ध लेखों का संग्रह

इस पेज के दृष्टिबाधित-अनुकूल संस्करण पर जाएं सीधे मुख्य नेविगेशन पर जाएं

होम पेज > हमारे बारे में > बर्ज़िन आर्काइव्स के बारे में

बर्ज़िन आर्काइव्स के बारे में

“बुद्धों और उन महान ज्ञानीजन को नमन जिन्होंने विद्याभ्यास, अनुशीलन करके बोध हासिल किया और अपनी शिक्षाओं तथा अन्तर्दृष्टि का सामान्यजन के बीच प्रसार किया।
उन विद्वज्जन को नमन जिन्होंने इन शिक्षाओं का अन्वेषण करके इनकी व्याख्या की और उन्हें सही ऐतिहासिक तथा सांस्कृतिक परिप्रेक्ष्य में प्रस्तुत किया।

कामना है कि इस साइट के आगंतुक प्रांजल मन और प्रयोजन से इन शिक्षाओं की सार्थक परख करेंगे, और यदि ये शिक्षाएं उन्हें उपयोगी लगें तो इनका चिंतन, बोधग्रहण करते हुए सभी के हित में अनुशीलन करेंगे।“

“मेरी अभिलाषा है कि मैं धर्म के वचनों में से अर्थ की बौछार करूँ और सभी भटकने वालों को उसके बोध से सराबोर कर दूँ।“

त्सेनशाब सेरकोँग रिंपोछे द्वितीय तथा अलेक्ज़ेंडर बर्ज़िन


एलेक्जे़ंडर बर्ज़िन का फोटोअलेक्ज़ेंडर बर्ज़िन की कृतियों का संग्रह है। अलेक्ज़ेंडर बर्ज़िन ने 29 वर्षों तक भारत में तिब्बती बौद्ध धर्म का अध्ययन और अनुशीलन किया। भारत में रहते हुए उन्होंने मुख्यतः अपने गुरु दिवंगत त्सेनझाब सेरकाँग रिंपोशे और यदा-कदा परम पावन दलाई लामा के लिए अनुवादक के रूप में अपनी सेवाएं अर्पित कीं। डॉ. बर्ज़िन ने 1980 के दशक की शुरुआत के वर्षों से लेकर अभी तक सत्तर से अधिक देशों में विश्वविद्यालयों और बौद्ध केन्द्रों में सुविस्तृत अध्यापन कार्य किया है।

अंग्रेज़ी तथा अन्य अनेक भाषाओं में 30,000 से ज़्यादा पृष्ठों की सामग्री, और 800 घंटों से अधिक अवधि की ऑडियो रिकॉर्डिंग्स सहित बर्ज़िन आर्काइव्स में निम्नलिखित सामग्री संग्रहीत है:

  • तिब्बती ग्रंथों के अनुवाद तथा संक्षिप्त विवरण
  • प्रकाशित पुस्तकें तथा अप्रकाशित पाण्डुलिपियाँ
  • डॉ. बर्ज़िन के व्याख्यानों की ऑडियो रिकॉर्डिंग्स
  • सैकड़ों पाठ्यक्रमों के प्रतिलेख और शिक्षण सम्बंधी प्रारूप
  • डॉ. बर्ज़िन के शिक्षकों द्वारा चलाए जाने पाठ्यक्रमों से सम्बंधित अनुवाद और टीकाएं
  • तिब्बती बौद्ध आचार्यों तथा इस्लाम के विद्वानों के साथ स्वकीय प्रश्नोत्तरी सत्र
  • एक हज़ार से अधिक अंग्रेज़ी, जर्मन, फ्रेंच, तथा रूसी कृतियों पर अध्ययन टिप्पणियाँ
  • ज्योतिष शास्त्र तथा बौद्ध धर्म सम्बंधी तकनीकी अभिव्यक्तियों के लघु तिब्बती-अंग्रेज़ी शब्दकोश
  • डॉ. बर्ज़िन की विश्व यात्राओं तथा विचारों की दैनंदिनियाँ

केवल प्रयोक्ताओं की सहायता राशियों से समर्थित बर्ज़िन आर्काइव्स का उद्देश्य तिब्बती बौद्ध धर्म की चार परम्पराओं तथा मध्य एशिया के इतिहास और संस्कृति के बारे में जानकारी के लिए इंटरनेट पर एक निःशुल्क बहुभाषी साधन उपलब्ध कराना है। यह उपक्रम बर्ज़िन आर्काइव्स, पंजीकृत संस्था, जो कि सार्वजनिक डोमेन (gemeinnütziger Verein Register Nr. 2423Nz, Berlin) में काम करने वाली एक जर्मन लाभ-निरपेक्ष संस्था है, के माध्यम से प्रायोजित है।

बर्ज़िन आर्काइव्स वैबसाइट के पेजों पर दी जाने वाली सामग्री निम्नलिखित विषयों पर केन्द्रित होती है :

  • सूत्र तथा तंत्र की दृष्टि से विभिन्न तिब्बती परम्पराओं की व्याख्या
  • कालचक्र, ज्योतिष शास्त्र, जोग्चेन, तथा महामुद्रा
  • अध्ययन तथा अभ्यास के क्रमिक स्तर, जिनमें ध्यान साधना सम्बंधी सामग्री भी शामिल है
  • अन्य बौद्ध परम्पराओं के साथ तिब्बती दृष्टिकोण का तुलनात्मक विवेचन
  • प्रशिक्षण कार्यक्रम, यथा बौद्ध अनुष्ठानों से प्रेरित संतुलित सूक्ष्मग्राहिता
  • बौद्ध धर्म-इस्लाम धर्म के बीच पारस्परिक प्रभावों का इतिहास

पारम्परिक मॉडल पर तैयार की गई इस साइट का प्रत्येक पेज किसी पहेली के एक भाग के समान है। हाइपरलिंक्स के माध्यम से पहेली के इन भागों को अनेक प्रकार से एक साथ जोड़ने के लिए सुझाव दिए गए हैं।

परियोजना के हितों को साधने के दृढ़ विचार से और अनेक लोगों के सहयोग से शुरू की गई यह वैबसाइट नवम्बर 2001 में अपनी शुरुआत के समय से ही विकास करती रही है। शेष कार्य को पूरा करने के लिए एक प्रतिबद्ध टीम के रूप में कार्य करने की आवश्यकता होगी और अगले कई वर्षों तक सतत प्रयास करना होगा। इसके विकास में सम्पूर्णता केवल आपके सहयोग से ही आ सकती है।

धन्यवाद,


डॉ. एल्डमर हेगेवाल्ड 
अध्यक्ष, बर्ज़िन आर्काइव्स,
पंजीकृत संस्था
 
कार्स्तेन बाछेम 
उपाध्यक्ष, बर्ज़िन आर्काइव्स,
पंजीकृत संस्था

 

 

“मैं एक पुल बन सकूँ, एक नौका बन सकूँ या जहाज़ बन सकूँ
उन सब के लिए जो पार उतरना चाहते हैं।
थके-मांदों की विश्राम स्थली का द्वीप बनूँ
दीप बनूँ मैं उन सब का प्रकाश जिनका मनोरथ है।

शांतिदेव